27 साल बाद बंद हो रहा है Microsoft Internet Explorer

Microsoft is shutting down Internet Explorer after 27 years | Internet Explorer News | Internet Explorer Download | Tech News

Microsoft Internet Explorer : दुनिया का सबसे ज्यादा चर्चित और पॉपुलर वेब ब्राउजर्स में से एक ‘इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर’ (Internet Explorer) अब बंद होने जा रहा है. इस बात की जानकारी कंपनी ने पिछले साल ही दे दी थी. 15 जून से माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) इसकी सर्विस को समाप्‍त कर देगा यानि इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर’ (Internet Explorer Closed) बंद कर देगा.

Internet Explorer एक बेहद पावरफुल Browser था. इसे साल 1995 में इंटरनेट एक्स्प्लोरर (Internet Explorer) को लॉन्‍च किया गया था. इंटरनेट एक्स्प्लोरर एक टाइम पर सबसे ज्यादा उपयोग किये जाने ब्राउज़र था और इसे टक्कर देने वाला कोई नहीं था. यह भी पढ़े – MyGov launches Digilocker service on WhatsApp

Microsoft Internet Explorer

The reason for the shutdown of Microsoft Internet Explorer

इंटरनेट एक्स्प्लोरर (Internet Explorer) को सबसे ज्यादा पसंद किये जाने का कारण इसका इंटरफ़ेस था जो काफी सरल देता था और उपयोग करने में आसान था. यही वजह रही कि माइक्रोसॉफ्ट(Microsoft)  ने इंटरनेट एक्स्प्लोरर के 11 वर्जन लॉन्च किए. लेकिन समय के साथ साथ मार्किट में गूगल क्रोम (Google Chrome) और मोजिला (Mozilla Firfox) जैसे नए इन्टरनेट ब्राउज़र मिलने लगे. जो अपनी तेज और सुरक्षित ब्राउज़िंग के दम पर अपना दबदबा बनाने में कामयाब रहे. यह भी पढ़े – कोई भी Movie यहाँ से Download करे.

गूगल क्रोम (Google Chrome) और मोजिला (Mozilla Firfox) दोनों ही काफी इस्‍तेमाल किए जाने लगे, जिसने इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर को पीछे छोड़ दिया. माइक्रोसॉफ्ट अपने इंटरनेट एक्स्प्लोरर (Internet Explorer) को बेहतर बनाने की बजाए एक नए Internet Browser ‘माइक्रोसॉफ्ट ऐज’ (Microsoft Edge) लेकर आया. यह भी पढ़े – Earn Money from Dailymotion

आज ‘माइक्रोसॉफ्ट ऐज’ (Microsoft Edge) एक कामयाब Internet Browser के रूप में जाना जाता है और ‘माइक्रोसॉफ्ट ऐज’ (Microsoft Edge) शानदार इंटरफ़ेस अपनी तेज और सुरक्षित ब्राउज़िंग के दम पर कई दुसरे ब्राउज़र को कड़ी टक्कर दे रहा है. आये अब जाने इंटरनेट एक्स्प्लोरर सफर से जुडी कुछ खास बातें.

Microsoft Internet Explorer History
  • इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर वेब ब्राउजर को सबसे पहले साल 1995 में ऐड-ऑन पैकेज प्लस के तौर पर विंडोज 95 के लिए रिलीज किया गया था.
  • इंटरनेट एक्सप्लोरर प्रोजेक्‍ट को साल 1994 में थॉमस रियरडन ने शुरू किया था. इसकी शुरुआती टीम में सिर्फ 6 मेंबर थे.
  • साल 1996 में Microsoft पर SyNet Inc ने मुकदमा किया था. दावा किया गया कि ‘इंटरनेट एक्सप्लोरर’ नाम के राइट्स उसके पास हैं. इस केस को निपटाने के लिए माइक्रोसॉफ्ट ने 5 मिलियन डॉलर चुकाए थे.
  • शुरुआत में इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर के नए और अपडेटेड वर्जन तेजी से आए साल 1999 तक इसके 5 वर्जन आ चुके थे.
  • साल 2000 के बाद इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोर की पॉपुलैरिटी तेजी से बढ़ी. कहा जाता है कि साल 2003 में इसकी मार्केट हिस्‍सेदारी लगभग 95 फीसदी थी और उपयोगिता के मामले में यह अपने पीक पर पहुंच गया था. 
  • इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर (Internet Explorer) का आखिरी वर्जन 11 था. इसे अक्‍टूबर 2013 में रिलीज किया गया था. जनवरी 2015 में ‘माइक्रोसॉफ्ट ऐज’ नाम से कंपनी ने नया वेब ब्राउजर पेश किया. अगले ही साल इंटरनेट एक्सप्लोरर के लिए नए फीचर डेवलपमेंट को बंद कर दिया गया. इसके बाद से ही यह माना जाने लगा कि आने वाले वर्षों में इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर इतिहास बन जाएगा.
  • कभी 95 फीसदी सिस्‍टम्‍स में इस्‍तेमाल होने वाला इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर अब महज 0.38 फीसदी मार्केट शेयर पर सिमट गया है. वेब ब्राउजर्स की रैंक में इसकी 10वीं पोजिशन है.
  • इंटरनेट एक्‍स्‍प्‍लोरर भले ही अब बंद होने जा रहा है, लेकिन 1990 के दशक के आखिर में माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने इसके डेवलपमेंट पर सालाना 100 मिलियन डॉलर खर्च किए थे. 6 लोगों की टीम से शुरुआत करने वाले इस प्रोजेक्‍ट में तब एक हजार लोग काम किया करते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

OnePlus 10R 5G Prime Edition हुआ Launch, मिलेगा एक्स्ट्रा डिस्काउंट Samsung Balance mouse. It runs away when the working time is over. Apple iPhone 14 Specifications, Price, and features Apple introduces iPhone 14 and iPhone 14 Plus Facebook यूजर्स को लगा झटका! कंपनी बंद कर रही है ये खास फीचर